Latest News

CTET August 2015 |Exam Schedule|Registration,Exam Dates

29,334 जूनियर विज्ञान-गणित शिक्षकों की सीधी भर्ती में अभी भी हैं 3 अड़चनें : तीनों मसलों की सुनवाई हाईकोर्ट में 22 मई को संभावित

1. सबसे बड़ी मुश्किल प्रोफेशनल डिग्री को लेकर है। बीटेक, बीएएमएस, बीसीए, बीएससी कृषि आदि के बाद बीटीसी या बीएड करने वाले अभ्यर्थियों का कहना है कि उन्होंने विज्ञान वर्ग में बीटीसी या बीएड प्रशिक्षण लिया और विज्ञान वर्ग में ही टीईटी पास किया।72,825 प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती में उन्हें विज्ञान वर्ग में रखा गया था लेकिन 29,334 शिक्षक भर्ती में इनका विरोध हो रहा है। हाईकोर्ट के निर्देश पर इस मसले का समाधान निकालने के लिए शासन ने चार अगस्त 2014 को हाईपावर कमेटी गठित की थी। कमेटी ने अपनी रिपोर्ट हाईकोर्ट में दी, जिसके अनुसार प्रोफेशनल डिग्रीधारक भर्ती के लिए अर्ह हैं लेकिन कोर्ट का आदेश आना बाकी है।

2. दूसरी ओर टीईटी के अंकों को वरीयता देने का मसला भी हाईकोर्ट में लंबित है।

3. एक अन्य मसला आरक्षित वर्ग को लेकर कोर्ट में लंबित है। याची अभिषेक कुमार मिश्र का कहना है कि जिन आरक्षित वर्ग के अभ्यर्थियों ने आरक्षण का लाभ लेते हुए टीईटी पास किया है, उनकी नियुक्ति सामान्य श्रेणी में न की जाए। इन तीनों मसलों की सुनवाई हाईकोर्ट में 22 मई को संभावित है।

प्राथमिक शिक्षा की दुर्दशा को सुधारने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने की अनूठे कदम की तैयारी

प्राइमरी शिक्षा की दुर्दशा को सुधारने के लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने एक अनूठा कदम उठाया है। प्रयोग के तहत बेसिक शिक्षकों को उनको मनचाहे स्कूलों में तैनाती देने का प्रयास किया जाएगा। जो प्राइमरी-जूनियर शिक्षक जिस क्षेत्र का है उस क्षेत्र के आसपास के स्कूलों में उनको नियुक्ति देने का प्रयास किया जाएगा।
यह व्यवस्था विभाग इसलिए करेगा। क्योंकि अक्सर निरीक्षण में यह बात सामने आती है, कि प्राइमरी-जूनियर के शिक्षक स्कूलों में सही समय पर नहीं पहुंचते हैं। शिक्षक कहते हैं कि स्कूल काफी दूर है इसलिए उनका आधा समय रास्ते में ही खत्म हो जाता है। इसलिए वह चाहकर भी समय पर स्कूल में नहीं पहुंच पाते हैं। इसलिए बेसिक शिक्षा मंत्री रामगोंविद चौधरी ने निर्देश दिया था, कि प्राथमिक-जूनियर शिक्षकों को आस-पास के स्कूलों में विकल्प भराकर उनको नियुक्ति का प्रयास किया जाएगा।30 जून से जुलाई के बीच में शिक्षकों के तबादले होते हैं।

बीआरसी पर प्रशिक्षण लेंगे टीईटी प्रशिक्षु शिक्षक

टीईटी प्रशिक्षु शिक्षक ग्रीष्मावकाश के बाद 21 मई से अपने-अपने बीआरसी पर प्रशिक्षण लेंगे। अब उनका प्रशिक्षण परिषदीय विद्यालयों में में चल रहा था। यह निर्देश शिक्षा सचिव ने वीडियो कांफ्रें¨सग के माध्यम से बेसिक शिक्षाधिकारी को दिया है।इधर प्रथम कट आफ के अभ्यर्थियों का तीन महीना पूरा होने वाला है लेकिन दूसरे, तीसरे एवं चौथे कट आफ के अभ्यर्थियों के काफी दिन बाकी हैं।समस्त प्रशिक्षु शिक्षको का प्रशिक्षण 10 बजे से 5 बजे तक नियमो और निर्देशों की अनुसार होगा |

टीईटी प्रशिक्षु यहाँ पर सम्बन्धित निर्देश देख सकते हैं :

Picture 1

Picture 2

परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में कार्यभार ग्रहण करने के बाद तीन महीने का क्रियात्मक प्रशिक्षण पूरा कर चुके प्रशिक्षु शिक्षकों को गुरुवार से ब्लॉक संसाधन केंद्रों (बीआरसी) पर सैद्धांतिक प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिन प्रशिक्षु शिक्षकों ने स्कूलों में तीन महीने का सैद्धांतिक प्रशिक्षण नहीं भी पूरा किया है, उन्हें भी गुरुवार से बीआरसी पर ट्रेनिंग दी जाएगी। इस बारे में बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से बुधवार को शासनादेश जारी कर दिया गया है।  Jagran Bureau, Lucknow

गाजीपुर : 72825 Primary Teachers Recruitment की पांचवी कट ऑफ अटक गयी

डायट कर्मियों की पिछले कई सप्ताह से चल रही हड़ताल से टीईटी की पांचवीं कट आफ मेरिट फंस गई है। जबकि सरकार ने इस भर्ती प्रक्रिया को पूरा करने के लिए 31 मई तक का समय दिया है। अन्य जिलों में पांचवी से लेकर छठवीं कट आफ तक जारी हो गई है लेकिन यहां पहले से ही लेट-लतीफी चल रही है। इससे यहां काउंसि¨लग कराने वाले अभ्यर्थियों की सांस अटक गई है।

  • गाजीपुर में रिक्तियों की संख्या – 2400
  • चौथी कट ऑफ तक भरी गयी रिक्तियां – 1783
  • बची हुई रिक्तियां – 617

बीआरसी केेंद्रों पर उपस्थिति देंगे प्रशिक्षु शिक्षक बदायूं

स्कूलों में प्रशिक्षण कर रहे प्रशिक्षु शिक्षक 20 मई के बाद संबंधित ब्लॉक संसाधन केंद्र पर उपस्थिति देंगे। इसके आदेश जारी कर दिए गए हैं। साथ ही अनुपस्थित पाए जाने पर कार्रवाई भी की जाएगी। वीडियो कॉफे्रंस में मिले निर्देश के क्रम में बीएसए कृपा शंकर वर्मा की ओर से जारी आदेश के मुताबिक स्कूलों में तैनात हुए प्रशिक्षु शिक्षक 20 मई के बाद बीआरसी केंद्र पर उपस्थिति देंगे। बताया कि स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश होने के कारण जारी प्रशिक्षण बीआरसी केंद्र पर होगा। डायट से मिले निर्देश पर प्रशिक्षण की कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए कहा। साथ ही सभी ब्लॉक अधिकारियों को निर्देशित किया कि संबंधित प्रशिक्षुओं की उपस्थिति आदि की भी जानकारी दें।

72825 Primary Teachers आज के दिन कहाँ कितने पद खाली ?

आगरा 89, मैनपुरी 86, मथुरा 12, फीरोजाबाद 40, अलीगढ़ 87, हाथरस 254, कासगंज 602, एटा 628, बरेली 863, बदायूं 1360, पीलीभीत 1084, शाहजहांपुर 2509, मुरादाबाद 673, हरदोई 2339, संभल 624, रामपुर 656, बिजनौर 162, अमरोहा 145, कानपुर नगर 11, कानपुर देहात 30, फर्रुखाबाद 357, इटावा 401, औरैया 11, कन्नौज 376, मेरठ 8, बुलंदशहर 168, गाजियाबाद 12, हापुड़ 12, गौतमबुद्धनगर 11, बागपत 84, सहारनपुर 704, मुजफ्फरनगर 127, शामली 115, लखनऊ 12, सीतापुर 4507, लखीमपुर खीरी 4112, उन्नाव 641, रायबरेली 625, इलाहाबाद 1215, प्रतापगढ़ 352, फतेहपुर 12, कौशांबी 794, झांसी 48, जालौन 321, ललितपुर 730, वाराणसी 80, गाजीपुर 1783, जौनपुर 1120, चंदौली 1021, मिर्जापुर 1055, भदोही 576, सोनभद्र 934, आजमगढ़ 1148, बलिया 12, मऊ 160, गोरखपुर 493, देवरिया 715, कुशीनगर 3084, महराजगंज 1649, बस्ती 220, संतकबीरनगर 517, सिद्धार्थनगर 1848, फैजाबाद 211, सुल्तानपुर 960, अमेठी 8, बाराबंकी 317, अंबेडकरनगर 314, गोंडा 2779, बलरामपुर 1405, बहराइच 2723, श्रावस्ती 605, हमीरपुर 233, चित्रकूट 196, बांदा 658 व महोबा 615

रिपोर्ट दर्ज न कराने पर खंड शिक्षा अधिकारी से स्पष्टीकरण

बलरामपुर : प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापकों की भर्ती प्रक्रिया के पहले चरण में फर्जी अभिलेखों के आधार पर नियुक्ति पत्र लेने वाले अभ्यर्थियों का मामला बढ़ता ही जा रहा है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी जय सिंह ने देहात शिक्षा क्षेत्र के खंड शिक्षा अधिकारी सुंदरलाल रावत से स्पष्टीकरण तलब कर संबधित मामले में प्राथमिक दर्ज न कराए जाने का कारण पूछा है। बीएसए ने एक सप्ताह के भीतर अपना जबाब कार्यालय में जमा करने के निर्देश दिए हैं।

बता दें कि प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापकों की भर्ती के पहले चरण में नियुक्ति पत्र लेने वाले 368 अभ्यर्थियों में से जांच के दौरान 21 अभ्यर्थियों के शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) प्रमाण पत्र फर्जी पाए गए थे। संबधित मामले में बीएसए ने देहात शिक्षा क्षेत्र के बीईओ सुंदर लाल रावत से फर्जी मिले सभी शिक्षकों के खिलाफ कोतवाली देहात में प्राथमिकी दर्ज कराने का निर्देश दिया था, लेकिन संबधित अधिकारी द्वारा चार माह बाद भी प्राथमिकी नहीं दर्ज कराई गई। संबधित मामले में बीएसए ने मंगलवार को स्पष्टीकरण जारी कर बीईओ से प्राथमिक न दर्ज कराए जाने का कारण तलब किया है। बीएसए ने बताया कि उत्तर संतोषजनक न पाए जाने पर संबधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

क्या TGT / PGT की भर्ती भी चढ़ जाएगी गड़बड़ियो की भेंट ?

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड एक के बाद एक गड़बड़ियों को लेकर विवादों के भंवर में फंसता जा रहा है। पूर्व में हुई भर्ती परीक्षाओं में प्रश्नपत्र की गड़बडी के कारण चयन बोर्ड को अदालती विवादों का सामना करना पड़ रहा है और अब भी वही स्थिति है। 125 जनवरी को हुई प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक (टीजीटी) की शारीरिक शिक्षक विषय की चयन बोर्ड द्वारा जारी संशोधित आंसर-की की बी-सीरीज में तमाम गलतियां प्रतियोगी अभ्यर्थियों ने गिना दी हैं। प्रतियोगियों ने इसके लिए तमाम साक्ष्य और तर्क भी प्रस्तुत किए हैं। हंिदूी, भूगोल और उर्दू सहित आधा दर्जन विषयों की संशोधित आंसर-की पहले से सवालों के घेरे में है।

UPSESSB Recruitment of 1.25 TGT/PGT in UP (Uttar Pradesh)

जानकारों की मानें तो चयन बोर्ड के पास मौजूदा समय एलटी के 72,120, प्रवक्ता के 22,303 व प्रधानाचार्य के2440 रिक्त पदों का ब्यौरा मिल चुका है। इन पदों को मिलकार 96,863 होता है। इसके अलावा बोर्ड के पास जून में प्रदेशभर से करीब 30,000 और रिक्तियां पहुंचने की उम्मीद है। Read More…

UPTET Exam Latest News; The exam will be held in July

प्रदेश में शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) अब जून के बजाय 30 जुलाई को कराने की तैयारी है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने इसके लिए शासन को प्रस्ताव भेजा है। प्रस्ताव के मुताबिक जून में ऑनलाइन आवेदन लेने के बाद जुलाई में परीक्षा कराई जाएगी। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने पहले मई में आवेदन लेकर जून में परीक्षा कराने का प्रस्ताव भेजा था।

UPTET 2015 |Online Application, Exam Dates & Latest News

29834 शिक्षकों का मामला नियुक्ति पत्र जारी करने पर रोक लगाने की अपील खारिज 

उच्च प्राथमिक विद्यालयों में गणित और विज्ञान के 29834 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र जारी करने पर रोक लगाने के लिए दाखिल विशेष अपील भी हाईकोर्ट ने खारिज कर दी है। इससे पूर्व मामले में एक स्पेशल अपील और दो एकल न्यायपीठों द्वारा याचिकाएं खारिज की जा चुकी हैं। भारत सुमन द्वारा दाखिल विशेष अपील पर न्यायमूर्ति राकेश तिवारी और न्यायमूर्ति मुख्तार अहमद ने सुनवाई की। याची का कहना था कि हाईकोर्ट की एकल पीठ ने नीलम कुमारी गौतम और अन्य याचिकाओं के बंच पर अंतरिम आदेश जारी कर नियुक्ति पत्र देने पर रोक लगाई थी।

जूनियर हाईस्कूलों में 29334 गणित- विज्ञान शिक्षकों को नियुक्ति पत्र देने की कवायद

परिषद शुक्रवार को हाईकोर्ट के फैसले के बाद अहम निर्णय कर सकता है।1ध्यान रहे, गणित-विज्ञान पद के लिए काउंसिलिंग करा चुके अभ्यर्थियों की लंबी अदालती लड़ाई के बाद अब उन की नियुक्ति की राह सहज हुई है। कोर्ट हालांकि शुक्रवार को दो मामलों की सुनवाई और करेगा, लेकिन उनके भी खारिज होने के ही आसार हैं। अधिकांश याचिकाएं पहले ही खारिज हो चुकी हैं। परिषद ने भी इसी कड़ी में आगे प्रक्रिया शुरू कर दी है। नियुक्ति पत्र बांटने पर थी रोक : इस भर्ती प्रक्रिया में 7 चक्रों तक काउंसिलिंग फरवरी तक की गई, लेकिन हाईकोर्ट ने इस भर्ती में नियुक्ति पत्र बांटने पर रोक लगा रखी थी। यह भर्ती आरटीई के तहत हो रही है, जिसमें कक्षा छह से आठ तकके स्कूल में एक विज्ञान व गणित का शिक्षक होना अनिवार्य है। ऐसे में नए सत्र के लिहाज परिषद की कोशिश है कि जल्द से जल्द शिक्षकों की कमी पूरी कर दी जाए। विभाग लगातार 29 हजार शिक्षकों की भर्ती पर से रोक हटवाने केलिए प्रयास कर रहा है। इस भर्ती प्रक्रिया के लिए पहली काउंसिलिंग पिछले वर्ष जुलाई में शुरू हुई थी। वहीं, सातवीं काउंसिलिंग इस वर्ष फरवरी में हुई। छह काउंसिलिंग के बाद भी लगभग चार हजार पद रिक्त थे।